महिला ने सुनाई आपबीती, पति को नींद में सेक्स करने की बीमारी

हाल ही में एक अजीब किस्सा सुनने को मिला कि महिला ने बताया की उसके पति को दुर्लभ स्लीप डिसॉर्डर के चलते नींद में वह जबरन सेक्स [ Sex ] करने की कोशिस करता है। महिला ने बताया की वह अपने पति के साथ पिछले 10 साल से रह रही है। 

वही महिला ने यह भी बताया कि उसका पति नींद में उसे टटोलता है, उसके कपड़े खिचता है और जरबन ही सेक्स करने की कोशिस करता है जिससे महिला को असहज महसूस होता है अपने पति द्वारा ऐसी हरकत करने पर। 

आगे महिला ने यह बताया कि उसके पति की यह हरकते उसे परेशान कर देती है महिला का यह कहना है कि पति रोज ऐसा नहीं करता है पर जब भी महिला की आँख खुलती है तो उसके पति का हाथ उसकी बॉडी पर ही होता है, और जब महिला अपने पति को जगाने के लिए धक्का मारती है और पति की नींद खुल जाती है तो उसके बाद सब कुछ सामान्य हो जाता है। 

विशेषज्ञों का कहना है कि उसके पति को सेक्सोमेनिया नामक बीमारी है जिसमें व्यक्ति को नींद में शारीरिक संबंध [ सेक्स ] बनाने के लिए मजबूर हो जाता है। 

ऐसा नहीं है कि महिला को अपने पति से कोई खास शिकायत है, पर फिर भी महिला परेशान हो जाती है अपने पति द्वारा ऐसी हरकत करने पर। महिला ने बताया की वह अपने पति पर भरोसा करती है तथा अपने पति के साथ लगभग 10 वर्षों से रह रही है। 

जब यह सभी बातें महिला ने पैरेंटिंग फॉरम [ parenting forum ] को बताई पैरेंटिंग फॉरम के अलग-अलग यूजर ने अलग-अलग सलाह महिला को दी। 

यूजर्स की सलाह 

पहला यूजर : इस यूजर ने महिला को रात में कमरा छोड़ने की सलाह दी । 

दूसरा यूजर : इस यूजर ने महिला से पूछा ” कि क्या आपके पति को ये सब याद रहता है, कि उन्होंने रात में क्या किया? इस पर महिला ने जवाब देते हुए कहा कि जब उन्होंने अपने पति से पूछा तो पता चलता है उन्हें कुछ भी याद नहीं। 

तीसरा यूजर : इस यूजर का कहना है कि इसमें पति को गलत ठहराना सही नहीं है क्योंकि उस व्यक्ति को कुछ याद ही नहीं कि उसने रात में क्या किया? क्योंकि उसका खुद पर कोई नियंत्रण ही नहीं है। 

चौथा यूजर : इस यूजर का यह कहना है कि ” क्या सच में तुम्हारा पति सो जाता है या नाटक कर रहा है? यूजर का यह भी कहना है कि वह तुम्हारे साथ यौन दुर्व्यवहार कर रहा हो? यूजर कहता है कि तुम्हें अपने पति के साथ जब तक सोना नहीं चाहिए जब तक उसकी बीमारी का पता ना चल जाए और उस बीमारी का इलाज ना हो जाए। 

पाँचवा यूजर : इस यूजर ने लिखा कि उसे इस बात पर पहले यकीन ही नहीं हुआ कि कोई व्यक्ति अपनी स्लीपिंग हैबिट्स को लेकर इतना बेफिक्र हो सकता है उस यूजर यह भी कहा कि अगर उसे पता है कि उसे यह बीमारी है तो उस व्यक्ति को अपना इलाज करवाना चाहिए। 

Disclaimer

इस लेख में दी गई सभी जानकारी इंटरनेट से प्राप्त की गई है इसलिए कुछ त्रुटि हो सकती है जिसके लिए SARKARI JOBS AND BLOG क्षमा प्रार्थी है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *